सिंहास्त २०१६ में हजारो खुनी नागा बनेंगे करेंगे दीक्षा ग्रहण ।

LiveUjjainNews 16:05:00,12-Apr-2016 सिंहस्थ
img img img img


  
उज्जैन । भारत में लगने वाले विश्व के सबसे बड़े धार्मिक मेले, महाकुंभ आदि गुरु शंकराचार्य जी के द्वारा इस्थापित पंच दशनाम जूना अखाडा में कुम्भ के दौरान सबसे बड़ा आकर्षण  हजारो नागा साधुओ की दीक्षा  ग्रहण कार्यक्रम होगा । लेकिन इस मेले का सबसे रहस्यमयी रंग होते हैं नागा साधु, जिनका संबंध शैव परंपरा की स्थापना से है।
 जुना अखाडा बनासकांठा पालनपुर गुजरात के श्री महंत शिव गिरि जी ने बताया की भगवान श्री दत्तात्रेय को मानने वाले साधु  गुरु शंकराचार्य जी की  हजारो वर्ष पुरानी  परम्परा को निभाते हुए एक भव्य कार्यक्रम के दौरान  नागा साधु की दीक्षा  ग्रहण करेंगे । नागा साधु बनने के बाद वे अपने शरीर पर भभूत की चादर चढ़ा देते हैं। यह भस्म या भभूत बहुत लंबी प्रक्रिया के बाद तैयार की जाती है। राख को शुद्ध करके उसे शरीर पर मला जाता है या फिर हवन या धुनी की राख से शरीर ढका जाता है।नागा साधू बनाने के बाद ये साधू गिरि भारती या पूरी के उपनाम से जाने जावेंगे उज्जैन में दीक्षा  ग्रहण करने वाले साधू को जिन्हे खूनी नागा  के नाम से जाना जावेगा ।

 

Related Post