किम जोंग ने बहन को दिया अहम पद, परमाणु कार्यक्रम को उत्तर कोरिया के लिए बताया जरूरी

LiveUjjainNews 22:43:52,08-Oct-2017 विदेश
img

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन ने अपनी बहन को सत्तारूढ़ पार्टी में एक वरिष्ठ पद सौंपा और देश के परमाणु हथियार कार्यक्रम की तारीफ की जिससे अंतरराष्ट्रीय समुदाय चिंतित हुआ. उनके लिए यह अमेरिकी खतरे से निपटने व संप्रभुता की रक्षा करने का सबसे बढ़िया तरीका है. किम जोंग-उन ने प्योंगयांग में शनिवार (7 अक्टूबर) को 'वर्कर्स पार्टी ऑफ कोरिया' (डब्ल्यूपीके) की केंद्रीय समिति की बैठक में कहा, "उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार के देश के भाग्य और अमेरिकी साम्राज्यवादियों के परमाणु खतरे से निपटने के व संप्रभुता का बचाव करने के लिए लोगों के संघर्ष की बहुमूल्य सफलता का नतीजा है."

किम 'वर्कर्स पार्टी ऑफ कोरिया' के अध्यक्ष भी हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम उत्तरी एशिया व कोरियाई प्रायद्वीप में शांति व सुरक्षा बनाए रखने के लिए है.

इस विस्तृत सत्र के दौरान, जो साल में एक बार आयोजित होता है, किम की छोटी बहन किम यो-जोंग पार्टी की पोलित ब्यूरो निर्वाचित हुई, जो उत्तर कोरियाई सरकार में उनके बढ़ते प्रभाव का संकेत है. शनिवार को पार्टी की बैठक में बीसियों अन्य शीर्ष अधिकारियों की घोषणा हुई. यो-जोंग की पदोन्नति की घोषणा भी इसी में हुई. यो-जोंग की 27-28 साल की हैं. हाल-फिलहाल वह अहम कार्यक्रमों में अकसर अपने भाई के साथ दिख रही हैं.

देश की सरकारी एजेंसी के मुताबिक, किम के करीबी माने जाने वाले चो रयोंग-हे पार्टी के केंद्रीय समिति का हिस्सा बने, जबकि विदेश मंत्री री योंग-हो केंद्रीय समिति के पोलित ब्यूरो नियुक्त हुए. पोलित ब्यूरो नीति निर्धारक निकाय है और जोंग-उन उसकी अध्यक्षता करते हैं

Related Post