मेक्सिको में 8.1 तीव्रता का भूकंप: 90 सेकंड तक आए झटके, 32 की मौत

LiveUjjainNews 22:15:10,08-Sep-2017 विदेश
img

.मेक्सिको में शुक्रवार को भूकंप के जबरदस्त झटके आए, जिसमें 32 लोगों की मौत हो गई है। भूकंप के चलते मेक्सिको की चियापास और ताबास्को स्टेट में काफी नुकसान पहुंचा है और कई बिल्डिंग धराशाई हो गई हैं। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 8.1 मापी गई। सुनामी का अलर्ट भी जारी किया गया है। भूकंप के झटके प्रशांत महासागर में मेक्सिको और ग्वाटेमाला की बॉर्डर के पास लगे। इसके आफ्टरशॉक मेक्सिको सिटी में भी महसूस किए गए। 90 सेकंड तक महसूस किए गए झटके...

- यूएस जियोलॉजिकल सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक, इसका केंद्र पिजीजीपान टाउन से 123 किमी दूर 33 किमी गहराई में बताया जा रहा है। भूकंप के झटके लोकल समय के मुताबिक रात 10.49 बजे मेक्सिको में ट्रेस पिकास जगह के पास महसूस किए गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भूकंप के झटके करीब 90 सेकंड तक महसूस किए गए, जिसके चलते लोगों में अफरा-तफरी मच गई।
अब तक 32 लोगों की मौत
- सरकार ने बताया कि मरने वालों की तादाद 32 हो गई है। इनमें से 17 मौतें जुचितान में हुई हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, भूकंप के खौफ के चलते लोग ऑफिस और घरों से बाहर निकल गए और सड़कों पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। चियापास और ताबास्को स्टेट में भूकंप के चलते भारी नुकसान हुआ है। यहां पांच लोगों की मौत हो गई है। इसमें दो बच्चे भी शामिल हैं।
- ताबास्को के गर्वनल अर्तुरो नुजेन ने बताया कि एक बच्चे की मौत दीवार गिरने से हुई, वहीं, दूसरे बच्चे की मौत हॉस्पिटल में लाइट जाने के चलते इन्फैन्ट वेंटिलेटर बंद होने से हुई। चियापास में रहने वाले एक शख्स रोडिग्रो ने बताया कि भूकंप के चलते मकान बुरी तरह हिल रहे थे। इसके चलते लाइट और इंटरनेट भी बंद हो गया।
- चियापास के गर्वनर के मुताबिक मैनुअल वेलास्को के मुताबिक, टीवी स्टेशन और एक शॉपिंग सेंटर की छत गिर गई है। 
सुनामी का अलर्ट भी जारी
- सुनामी वॉर्निंग सेंटर ने अलर्ट जारी किया है। सेंटर के मुताबिक, कोस्टल इलाकों में तीन घंटे के अंदर सुनामी की लहरें उठ सकती हैं।
- सेंटर के मुताबिक, मेक्सिको, ग्वाटेमाला, पनामा, अल सल्वाडोर, कोस्टारिका, निकारागुआ, होंडूरास और इक्वाडोर के कोस्ट पर सुनामी आने की संभावना है।
क्यों आता है भूकंप?
- पृथ्वी के अंदर सात प्लेट्स हैं, जो लगातार घूम रही हैं। जहां ये प्लेट्स ज्यादा टकराती हैं, वह जोन फॉल्ट लाइन कहलाता है।
- बार-बार टकराने से प्लेट्स के कोने मुड़ते हैं। जब ज्यादा दबाव बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं।
- नीचे की एनर्जी बाहर आने का रास्ता खोजती है। डिस्टर्बेंस के बाद भूकंप आता है।
पिछले दो साल में आए भूकंप
- 8 अगस्त 2017 में चीन में 6.3 तीव्रता का भूकंप आया था। इसके दो आफ्टरशॉक भी लगे थे, जिसमें 24 लोगों की मौत हुई थी। 
- 24 अगस्त 2016 में इटली में 6.2 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे, जिसमें 300 लोगों की मौत हो गई थी। 
- 16 अप्रैल 2016 को इक्वाडोर में 7.8 तीव्रता के भूकंप के झटके लगे थे, जिसमें 673 लोगों की मौत हुई थी और हजारों बिल्डिंग्स धराशाई हो गईं थी। 
- फरवरी 2016 में ही ताइवान में भी 6.4 तीव्रता का भूकंप आया था, जिसमें 100 लोग मारे गए थे और कई इमारतों को नुकसान पहुंचा था।

Related Post